Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

IIT Kya Hai : आईआईटी की तैयारी कैसे करें?

दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको IIT Kya Hai की जानकारी देने वाले हैं अगर आप आई आई टी के बारे में नहीं जानते हैं और आप जाना चाहते हैं।

इस पोस्ट को पूरा पढ़कर जान सकते हैं। क्योंकि इस पोस्ट में हमने विस्तार से बताया है आई आई टी क्या होती है और इसकी तैयारी कैसे की जाती है।

भारत की प्रतिनिस्ट संस्थानों में से एक है। जिसमें कोर्स करने के बाद हर साल का एक कुशल और काबिल इंजीनियर निकलते हैं। जो देश की बड़ी-बड़ी कंपनियों में जॉब करते हैं।

आपको बता दें इंजीनियर की शिक्षा प्राप्त करने के लिए आई आई टी इंस्टीट्यूट भारत का सबसे प्रतिनिष्ठ एवं अच्छा संस्थान माना जाता है।

अब आप जानेंगे कि इसमें प्रवेश कैसे पाते हैं। तो दोस्तों प्रवेश पाना जितनी अच्छी बात है। उतनी ही कठिन इसमें प्रवेश प्रक्रिया भी होती है। इस में एडमिशन लेने के लिए आपको काफी सारी मेहनत करनी पड़ती है अगर आप भी आई आई टी की तैयारी करना चाहते हैं। और आई आई के बारे में जानना चाहते हैं।

तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ना ना भूलें क्योंकि जब आप पूरा पोस्ट पड़ेंगे तभी आपको अच्छे से समझ जा सकेगा।

IIT Kya Hai?

इंजीनियर बनने के लिए आपको आई आई टी में कठिन परीक्षा देनी पड़ती है। जिस में प्रवेश पाने के लिए हर साल लाखों छात्र काफी मेहनत कर रहे हैं। अगर आप भी इंजीनियर बन कर अपना करियर इंजीनियर क्षेत्र में बनाना चाहते हैं। तो आपको आई आई टी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त होना जरूरी है।

आई आई टी भारत में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सबसे बढ़िया संस्थान है। यह भारत देश में अनेकों प्रकार के कॉलेजों में इंजीनियरिंग का कोर्स देने वाला सबसे अच्छा संस्थान है। आपको बता दें कि आई आई टी का आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर भी किया जाता है।

प्रथम भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की स्थापना खड़गपुर में 1951 में की गई थी और आपको बताते चलें कि वर्तमान में भारत में कुल 30 आई आई टी इंस्टिट्यूट है। अब हम आपको बताएंगे कि आई आई टी का फुल फॉर्म क्या होता है तो आपको बता दें

कि IIT का फुल फॉर्म इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी होता है। दोस्तों आई आई टी की परीक्षा के लिए है परीक्षा काफी कठिन होती है। अब भारत के शहरों में आई आई टी संस्थान की स्थापना की जा चुकी है। आशा करता हूं कि अब आप आई आई टी के बारे में समझ ही गए होंगे।

आई आई टी में प्रवेश पाने के लिए क्या करें?

तो दोस्तों आप आई आई टी में प्रवेश किस प्रकार पा सकते हैं। तो चलिए हम आपको बता देते हैं। कि आई आई टी प्रवेश परीक्षा के लिए छात्रों को राज्य बोर्ड और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित की गई

10वीं और 12वीं पास होना अनिवार्य है। यदि आपने 10वीं या 12वीं परीक्षा अच्छे मार्क में पास कर ली है। तो आप इसके बाद हर साल आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षा को क्वालीफाई करना होगा उसके बाद आप आई आई टी में प्रवेश पा सकते हैं।

आई आई टी कैसे करें?

तो चलिए जानते हैं आई आई टी कैसे की जाती है। आई आई टी करने के लिए सबसे पहले आपको प्रवेश होना बहुत जरूरी है।

प्रवेश पाने के लिए विद्यार्थी को आई आई टी परीक्षा जिसमें पहली जेईई मानी जाती है। और दूसरी जेईई एडवांस परीक्षा होती है। आई आई टी में प्रवेश पाने के लिए सबसे पहले आपको जेईई मेन परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा।

आई आई टी की परीक्षा पास करने के लिए छात्रों को जेईई एडवांस परीक्षा देने का एक मौका मिलता है। जब उम्मीदवार जेईई एडवांस परीक्षा पास कर लेता है तो उसके बाद बीटेक जैसी इंजीनियर पाठ्यक्रम में प्रवेश कर सकता है इसके साथ ही आई आई टी संयुक्त प्रवेश परीक्षा ऑनलाइन बोर्ड में आयोजित की जाती है।

IIT Admission Process In Hindi

आईआईटी में प्रवेश पाने के लिए जो छात्र जनरल/ओबीसी के उम्मीदवार हैं उनकी जानकारी के लिए बता दें कि इसमें 12वीं कक्षा में न्यूनतम 75% कुल अंक होना अनिवार्य है। और जो छात्र sc-st श्रेणी के उम्मीदवार हैं उनके लिए न्यूनतम अंक 65% होना अनिवार्य है उम्मीदवार को योग्यता परीक्षा के टॉप 20 परसेंटाइल के भीतर ही होना चाहिए।

उसके बाद आपको JEE Main और JEE advanced उत्तरण करना अनिवार्य है। JEE main एंजाइम में अंकों के आधार पर आपके रैंक निर्धारित होती है। तथा आपके पूरी रैंकिंग जेईई एडवांस में आपने जो इसको प्राप्त किया है उसके आधार पर की जाती है।

एडवांस रिजल्ट के पश्चात रैंक घोषित होने के बाद,आपको विशेष स्ट्रीम वाले विभिन्न आईआईटी कोर्सेज चुनने की आवश्यकता होगी। जिसमे कुछ दिनों के अंदर काउंसलिंग शुरू कर दी जाती है और फिर उसमे उपलब्ध सीट एवं रैंक के हिसाब से आपको IIT में प्रवेश दे दिया जाता है।

IIT में परीक्षा कैसे होती है?

जो भी अभ्यार्थी आईआईटी JEE परीक्षा की तैयारी कर रहे है, तो उनकी जानकारी के लिए बता दें कि कक्षा XII की बोर्ड परीक्षा में आपके जो अंक आते है वो अंक isme महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसलिए सभी छात्रों एवं छात्राओं को अपनी बोर्ड परीक्षाओं पर विशेष ध्यान देना जरूरी है।

दोस्तो जेईई मेन परीक्षा में रसायन विज्ञान, भौतिकी और गणित विषयों के वैकल्पिक प्रश्न आते है जिसके लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है। हालाँकि जो विकलांगता वाले उम्मीदवारों है उनको समय में 40% छूट दी जाती है उनके लिए 4 घंटे का समय दिया जाता है।

जेईई मेन परीक्षा के लिए सभी शहरों के सभी केंद्रों के लिए प्रश्न पत्र का माध्यम अंग्रेजी और हिंदी ही रहता है। और जिसमे उम्मीदवार आवेदन पत्र भरते समय प्रश्नपत्र के लिए भाषा का चयन भी कर सकते है। प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए 4 अंक निर्धारित किए जाते है। और जबकि प्रत्येक गलत जवाब के लिए 1/4 की नेगेटिव मार्किंग भी की जा सकती हैं।

  • JEE Main Exam Pattern (Paper-1)
  • JEE Main Exam Pattern (Paper-2)

यह भी पढ़ें –

JEE Advanced Exam Pattern

दोस्तो आपको बता दूं कि JEE एडवांस्ड की परीक्षा कंप्यूटर पर आधारित परीक्षा (CBT) मोड में आयोजित की जाती है। JEE एडवांस्ड परीक्षा में 3 घंटे के समय के दो अनिवार्य पेपर होते है जो पेपर I और II होते है प्रत्येक पेपर में भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित से जुड़े प्रश्न पूछे जाते है। जिसमे उम्मीदवारों को प्रत्येक विषय के प्रश्नों का सही उत्तर देना होता है।

दोस्तो परीक्षा का माध्यम अंग्रेजी और हिंदी भाषाओं मिलता है । लेकिन ध्यान रहे कि केवल एक ही भाषा को आप चुन सकते है। उदाहरण के लिए बता दूं कि यदि उम्मीदवार परीक्षा के शुरुआत में अंग्रेजी भाषा का चयन करता है। तो फिर वह बीच में हिंदी भाषा का चुनाव नही सकता है।

JEE के बिना IIT में प्रवेश कैसे ले सकते हैं?

दोस्तो आपको बता दें B.Tech के अलावा अन्य किसी भी कोर्स में प्रवेश पाने वाले उम्मीदवार, छात्रों के पास IIT में प्रवेश पाने के लिए अन्य विकल्प भी मौजूद होते है। जो आईआईटी में M.Tech करने के उम्मीदवार GATE के माध्यम से प्रवेश ले सकते है जबकि Management Programs में प्रवेश CAT के माध्यम से किया जाता है। इन सभी एंट्रेंस एग्जाम को राष्ट्रीय स्तर पर किया जाता है।जिनमें बड़ी संख्या में आवेदक है। कुछ टेस्ट्स ऐसे भी है जिनके माध्यम से बिना जेईई के आईआईटी में प्रवेश ले सकते है।

  • GATE
  • JAM
  • CAT
  • CSIR NET

IIT Ki Taiyari Kaise Kare?

दोस्तो यह तो आप अच्छे से जानते ही होंगे चाहे कोई भी परीक्षा हो बिना तैयारी के आप किसी भी परीक्षा में पास नहीं हो सकते। अगर आप पूरी मेहनत के साथ परीक्षा की तैयारी करते है। तो आप उसमें जरूर सफल हो सकते है। तो आइये आपको बताते है तो अब आइए आईआईटी की तैयारी कैसे करें जानते है:–

  • मुख्य विषयों पर फोकस करें।
  • समय निर्धारित करे।
  • पिछले साल के पेपर हल करे।
  • कोचिंग क्लास ज्वाइन करे।

IIT Kitne Year Ki Hai?

दोस्तो अब हम आपको बता देते है की IIT कितने साल का कोर्स होता है। इसमें 4 साल का कोर्स होता है जिसमे आईआईटी में किसी भी ब्रांच जैसे सिविल इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, टेक्निकल आदि ब्राँच से इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री पाने के लिए चार साल का समय लगता है। अगर कोई उम्मीदवार बैचलर के साथ मास्टर कोर्स B.Tech + M.Tech भी करना चाहता है तो इसका समय 6 साल होता है। इसके अलावा यदि आप किसी विशेष वर्ष में असफल होते है, तो आपको इसे फिर से करना होता है।

IIT Karne Ke Fayde?

दोस्तो आईआईटी करने के भी बहुत से फायदे है जिनके बारे में हम आपको आगे बताने वाले है जो की हमने नीचे निम्नानुसार दिए भी है जिनको आप पढ़ सकते है।

  • अगर आप आईआईटी करते है और आपकी Family में या Friends को इसके बारे में पता चलता है, तो आप उनके और अन्य लोगों के बीच में सम्मान महसूस करेंगे क्योंकि यह उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान करने वाली संस्थान होती है
  • IIT Ke Baad आपको आसानी से एक अच्छी नौकरी मिल जाती है। और आपका अच्छी जगह Placement होता है।
  • आपको आईआईटी कैंपस के प्राइवेट रेस्टोरेंट्स में 10-15% डिस्काउंट मिलता है तथा Free Doctor Consultation की सुविधा भी मिलती है।
  • आईआईटी में स्टूडेंट्स को सिर्फ Engineering और Research के अलावा बहुत सी चीजें सीखने को मिलती है। इसमें Management, Finance, और Social Skills के बारे में भी सिखाया जाता है।
  • आईआईटी के माध्यम से आपको अच्छी सुविधाएँ प्राप्त होती है। आपको पढ़ने के लिए अच्छी Lab और Computer Center की सुविधा मिलती है।

आईआईटी की फीस कितनी होती है?

आईआईटी में जाने वाले इच्छुक अभ्यर्थियों का सबसे पहला सवाल यही होता है कि आईआईटी की फीस कितनी होती है। प्रत्येक आईआईटी संस्थान द्वारा हर साल official website पर fees Sturcture शेयर किया जाता है।

जो कि सामान्यतः बात की जाए तो बीटेक के लिए आईआईटी की फीस 2 लाख से 2.5 लाख रुपए तक होती है। जो कि 4 साल में 8 से ₹10 लाख हो जाती है।

ध्यान रहे कि Sc, St & pH Students के लिए आईआईटी कॉलेज की फीस कम होती है। हालांकि सभी संस्थान की फीस अलग-अलग होती है।

%d bloggers like this: