Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

B.Ed Course क्या है? और बीएड कैसे करें योग्यता सैलरी

B.Ed Course क्या है। जब हम पढ़ाई करते हैं। तो हमें दसवीं तक एक जैसा पढ़ाया जाता है जैसे हम दसवीं पास करते हैं उसके बाद हमें अलग-अलग सब्जेक्ट के मौके दिए जाते हैं। हर छात्र का एक अपना सपना होता है जिसे वह साकार करना चाहता है। लेकिन कोई सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहता है। और कोई डॉक्टर बनना चाहता है।

आज की इस पोस्ट में हम उन छात्रों के लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाले हैं जो आगे जाकर अपना कैरियर बनाना चाहते हैं।

अगर आप भी शिक्षक बनना चाहते हैं तो इस पोस्ट में हम आपको boardexamnews.com के माध्यम से बताने वाले हैं। B.Ed Course कैसे पूरा करें, B.Ed Kya hai, B.Ed Kaise kare, B.Ed की फीस कितनी लगती है, कहां से B.Ed करें, बेस्ट कॉलेज कौन से हैं, स्कोप क्या है, सैलरी कितनी मिलती है, इत्यादि B.Ed Course in Hindi

B.Ed Full Form in Hindi

B.Ed का फुल फॉर्म “Bachelor Of Education” होता है जिसे हिंदी में “शिक्षा शास्त्र में स्नातक” होता है। जिसे शार्ट में B.Ed कहते हैं।

B.Ed Course Kaise kare
B.Ed Course

B.Ed Course Kya hai

अगर आप सोच रहे हैं कि शिक्षक कैसे बना जाए। पुणे आवश्यक B.Ed कोर्स करना होता है कुछ साल पहले यह अनिवार्य नहीं था मगर नई नियमों के चलते सभी उम्मीदवारों को भी ऐड करना होगा जो आगे जाकर शिक्षक बन सकते हैं। आसान शब्दों में समझाया जाए। अगर आप शिक्षक बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको B.Ed करना अनिवार्य रूप से करना होगा जब भी आप शिक्षक के लिए एलिजिबल हो पाएंगे।

B.Ed का फुल फॉर्म हिंदी में बैचलर ऑफ एजुकेशन कहते हैं इसे शार्ट में B.Ed के नाम से भी जानते हैं यह एक शिक्षा में स्नान तक ग्रेजुएशन है यह 2 साल का एक स्नातक तक कोर्स है।

B.Ed करने वाले अभ्यर्थियों को सबसे पहलें मनपसंद सब्जेक्ट लेकर ग्रेजुएशन पूरा करना होगा उसके बाद ही B.Ed के लिए आवेदन कर सकते हैं B.Ed का कोर्स करने के लिए आपको 2 साल समय दिया जाता है।

2 साल का B.Ed कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवार को शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक के रूप में सरकारी तथा प्राइवेट में नौकरी करने के लिए जरूरी एग्जाम देना होता है जिसके बाद ही स्कूल में शिक्षक बनने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं।

शिक्षक बनने के लिए यह कोर्स अनिवार्य कर दिया गया है। RTE Act 2009 के तहत फर्स्ट टाइम 2010 के अप्रैल महीने में B.Ed का शुरुआत हुआ था। तब से B.Ed करें बिना आप शिक्षक नहीं बन सकते।

B.Ed Course के लिए योग्यता?

अगर आप B.Ed कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए क्या क्या योग्यता होनी चाहिए। तो हमने आपको नीचे स्टेप बाय स्टेप बताएं हैं

  • ग्रेजुएशन पूरी होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन में कम से कम 50% मार्क्स चाहिए।
  • कुछ कॉलेजों में क्या परसेंटेज 55% भी हो सकती है यह सब कॉलेज पर निर्भर करती है।
  • आयु सीमा 21 वर्ष से अधिकतम 35 वर्ष होती है।
  • आई कॉलेज और यूनिवर्सिटी में 5 वर्ष की छूट दी जाती है जिससे आप इस कोर्स को 40 वर्ष की उम्र तक कर सकते हैं।

B.Ed Course कैसे करें in Hindi?

अगर आप भी B.Ed करना चाहते हैं तो हम आपको स्टेप बाय स्टेप बताने वाले हैं कि B.Ed का क्या प्रोसेस है। इसके लिए आपको नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें

10 वीं पास करने के बाद: अगर आप भी ऐड करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको क्लास 10वीं पास करते आपको सोच लेना चाहिए कि हमें भी B.Ed करना है। उसके बाद मनपसंद विषय को चयन कर सकते हैं।

अगर आप आगे जाकर किसी साइंस विषय के शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपको दसवीं के बाद 11वीं में साइंस विषय से बात करना होगा इसी प्रकार आप जिस भी विषय के शिक्षक बनना चाहते हैं तो उस विषय को चयन करना होगा।

यह भी पढ़ें –

10+2 पास करने के बाद: दसवीं पास करने के बाद आपने जिस भी विषय को चयन किया है। उसी विषय के साथ 11वीं और 12वीं पास करना अनिवार्य है।

क्योंकि अगर आप 12वीं पास करेंगे तो ही आप अपने मनपसंद विषय में ग्रेजुएशन कर पाएंगे और अच्छे कॉलेज में दाखिला मिल सकता है उसके लिए आपको अच्छे अंको से पास होना होगा।

ग्रेजुएशन पूरा करें: जैसे ही आप 10वीं और 12वीं पास कर लेते हैं उसके बाद आपके पास मौका मिलता है ग्रेजुएशन पूरा करने का ग्रेजुएशन 3 से 4 साल का होता है। उसने भी अलग-अलग सब्जेक्ट देखने को मिल सकते हैं।

और हम आपको बता दें कि जनरल वर्ग के छात्रों के लिए ग्रेजुएशन में कम से कम 50% मार्क्स होना अनिवार्य है और एससी एसटी वर्ग के छात्रों के लिए न्यूनतम 5% मार्क्स लाना अनिवार्य है तभी आप आगे जाकर भी ऐड कर पाएंगे।

B.Ed में दाखिला कैसे लें: आप जिस कॉलेज में B.Ed करना चाहते हैं उस में दाखिला लेने के लिए आपको आवेदन पत्र भरना होगा या फिर फॉर्म फिल करना होगा।

आवेदन पत्र भरने के लिए आपके पास ग्रेजुएशन की मार्कशीट, और दसवीं, 12वीं की मार्कशीट आधार कार्ड नंबर एड्रेस वगैरा आज जानकारी भरनी होगी और आवेदन पत्र के साथ ही आपको फीस जमा करनी होगी।

B.Ed Course कैसे करें: B.Ed कोर्स करने के लिए आप मन चाहे कॉलेज में एडमिशन ले कर कर सकते हैं। इसके पश्चात आपको 2 साल B.Ed की पढ़ाई करना होता है जिसमें बौद्धिक, सांस्कृतिक, सामाजिक, भावनात्मक, शारीरिक, सौंदर्य, नैतिक, और आध्यात्मिक रूप से उसके बारे में दी शिक्षा जाती है।

B.Ed Course करने के फायदे in Hindi?

अगर आप जानना चाहते हैं कि B.Ed कोर्स करने से क्या-क्या फायदे हैं। तो हम आपको अच्छे से जानकारी बता सकते हैं उसके लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • बीएड (B.Ed Course) कोर्स करने के बाद टीचिंग लाइन में कैरियर बना सकते हो।
  • बीएड कोर्स टीचर बनने के लिए बेस्ट कोर्स होता है।
  • बीएड कोर्स करने के बाद किसी भी सरकारी या प्राइवेट कॉलेज में पढ़ा सकते हैं।
  • बीएड (B.Ed Course) कोर्स करने के बाद काफी फायदे होते हैं।

बीएड (B.Ed Course) की फीस कितनी होती है?

अगर आप B.Ed कोर्स करना चाहते हैं तो उसकी फीस जानना चाहेंगे। जिसकी फीस सरकारी व प्राइवेट कॉलेज में अलग-अलग होती है। और ज्यादातर फीस कॉलेजों के ऊपर निर्भर होती है। फिर भी हम आपको बता दें। सरकारी कॉलेज में बीएड की फीस सालाना 10 हजार रुपए से 20 हजार रुपए तक हो सकती है। और प्राइवेट कॉलेजों की फीस ₹40 हजार से लेकर ₹1 लाख रुपये तक हो सकती है।

यह भी पढ़ें –

FAQ Questions?

B.Ed में क्या-क्या पढ़ाई होता है?

b.Ed का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ एजुकेशन होता है। या एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स होता है। जिसे विद्यार्थी टीचर बनने के लिए करते हैं।

B.Ed में कितने सब्जेक्ट पढ़ने पड़ते हैं?

बीएड में हिन्दी, अंग्रेजी, संस्कृत, सोशल साइंस, गणित, फिजिकल साइंस, बॉयोलॉजिकल साइंस, कंप्यूटर साइंस, होम साइंस, कॉमर्स और उर्दू पेडागॉगी सब्जेक्ट हैं। जो छात्र बीएड करते हैं उनके स्नातक में भी इनमें से दो मुख्य विषय अवश्य होने चाहिए।

1 thought on “B.Ed Course क्या है? और बीएड कैसे करें योग्यता सैलरी”

  1. Pingback: Graduation Degree क्या हैं कैसे करें? What Is Graduation Course In Hindi?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: