Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Civil Engineer Kaise Bane | सिविल इंजीनियर क्या है कैसे बनें

Civil Engineer Kaise Bane : इंजीनियर एक प्रोफेशनल डिग्री है। आज के समय में इंजीनियर की बहुत ज्यादा डिमांड है लेकिन कुछ कारणों से इसकी डिमांड दिन पर दिन बढ़ती जा रही है लेकिन आज हम इस पोस्ट में Civil Engineer Kaise Bane के बारें में बताएंगे। Civil Engineering Kya Hai, Civil Engineering Kaise Kare,Civil Engineering Course, Syllabus आदि के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताई गई हैं।

इंजीनियर का काम कंस्ट्रक्शन, तड़के बनाना डिजाइन करना घर की प्लानिंग करना कई सारे ऐसे काम होते हैं जिनमें अच्छा खासा इनकम होता है। लेकिन उसके बारे में संपूर्ण जानकारी ना होने से वह इंजीनियर नही बन पाते हैं। अगर आप सिविल इंजीनियरिंग बनना चाहते हैं। इंजीनियर में अपना कैरियर बनाने की सोच रहे हैं आज की इस पोस्ट के माध्यम से आपको संपूर्ण जानकारी हो जाएगी की सिविल इंजीनियर क्या है कैसे करें। कितने साल की होती है।

सिविल इंजीनियरिंग 4 साल का (ग्रेजुएशन) कोर्स होता है। हालांकि कुछ कॉलेज और कॉलेजों के माध्यम से डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं वह 3 साल का होता है। हर साल लाखों विद्यार्थी सिविल इंजीनियर के लिए आवेदन करते हैं लेकिन उसमें से कुछ ही छात्र चयन होते हैं। कुछ लोगों को सिविल इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में पता नहीं होता है।

Civil Engineer Kya Hota Hai

Civil Engineer kaise bane
Civil Engineer kaise bane

सिविल इंजीनियरिंग एक अच्छा कोर्स है। सिविल इंजीनियर के अंडर में कई सारे ऐसे काम आते हैं जैसे कि सड़क, पुल, नहर, हवाई अड्डे,,सीवरज सिस्टम, अन्य कई सारे ऐसे कामों की डिजाइन करनी होती है। यह काम करने की जिम्मेदारी सिविल इंजीनियर पर होती है। आसान भाषा में समझा जाए तो जैसे की सड़क का निर्माण घर का निर्माण कैसे डिजाइन करनी है आज ऐसे काम सिविल इंजीनियर के अंडर आते हैं।

Civil Engineer kaise bane Highlights Point

topicCivil Engineer kaise bane
StateAll India
Qualification10th & 12th
Graduation3 से 4 वर्ष
Civil Engineer CorseIn Hindi
Home Pageboardexamnews.com
Civil Engineer kaise bane

Civil Engineer Kaise Bane

सिविल इंजीनियर 10वीं पास करने के बाद ही कर सकते हैं उसके लिए आपको पॉलिटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा करना होगा और उसमें Entrance Exam देना होगा। इस डिप्लोमा कोर्स करने में 3 साल का समय लगता है जिसे करने के बाद आप जूनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हैं।

अगर आप 12वीं साइंस या मैथ सब्जेक्ट से Civil Engineer बनना चाहते हैं। तो उसके लिए आपको 12वीं पास करना होगा 12वीं में फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी , मैथ सब्जेक्ट होने चाहिए जिसमें कम से कम 60% मार्क्स से पास होना चाहिए। अगर अपने 12वीं में अच्छे अंको से पास कर लेते हैं तो उसके लिए आपको अच्छे कॉलेज में बीटेक मैं एडमिशन पाने के लिए ऑल इंडिया लेवल इंटरेस्ट एग्जाम JEE MAIN, IIT, AIEEE जैसे देने होते है।

इन एग्जाम को क्लियर करने के बाद इस अंक के आधार पर रैंक में Improvement होता है। लेकिन बहुत सारे ऐसे कॉलेज होती हैं जिनमें अच्छे अंक लाने पर कॉलेज में एडमिशन कर सकते हैं। एग्जाम देने होते हैं। उसने आपको काउंसलिंग के दौर से गुजर ना होता है।

शैक्षिक योग्यता (Civil Engineer Eligibility)

सिविल इंजीनियरिंग के लिए शैक्षिक योग्यता की जानकारी नीचे स्टेप बाय स्टेप दी गई है।

  • सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के लिए दसवीं एग्जाम को पास करना होता।
  • 12वीं में साइंस फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी और मैथ सब्जेक्ट होना चाहिए।
  • अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए इंटरेस्ट एग्जाम देना होता है । जैसे कि JEE MAIN, IIT, AIEEE इन एग्जाम में 60% प्रतिशत मार्क्स से पास होना चाहिए।

सिविल इंजीनियरिंग कॉलेज? Top Civil Engineering College

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  • इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, आहमदबाद
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुम्बई
  • बिड़ला इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बीआईटीएस), रांची
  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ साइंस, बेंग्लुरू
  • नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ कंस्ट्रक्शन मैनेजमेंट एंड रिसर्च, नई दिल्ली
  • मालवीय टेक्निकल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जयपुर
  • ओस्मानिया यूनिवर्सिटी
  • इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ अजमेर
  • ग्रीनहिल्स इंजीनियर कॉलेज, हिमाचल प्रदेश
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, लखनऊ
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, दिल्ली
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, मुम्बई
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, बरेली
  • कॉम्बिटूर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तमिलनाडु
  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद
  • वीरमाता जीजाबाई टेक्निकल इंस्टीट्यूट, मुम्बई
  • सरदार पटेल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, मुम्बई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, श्रीनगर
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

Civil Engineerinhg Subject?

सिविल इंजीनियरिंग में कई तरह के सब्जेक्ट होते हैं जो कि इस प्रकार हैं।

  • Material Engineering.
  • Hydraulic Engineering
  • Urban Engineering
  • Structural Engineering
  • Transportation Engineering
  • Earthquake Engineering
  • Environmental Engineering
  • Geo Technical Engineering
  • Coastal Engineering
  • Construction Engineering
  • Forensic Engineering
  • Outdoor Plant Engineering

सिविल इंजीनियर की सैलेरी कितनी होती है?

अगर आप जानना चाहते हैं कि सिविल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है तो हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले हैं कि सिविल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है।

चलिए जानते हैं कि सिविल इंजीनियर की सैलेरी कितनी होती है।

  • अगर आप प्राइवेट सेक्टर में जॉब कर रहे हैं तो आपको 20,000 से लेकर ₹30,000 रुपये प्रति महा मिल सकती है।
  • और आपके अनुभव पर आपकी सैलरी डिपेंड करती है।
  • अगर आपको अनुभव है और एक्सपीरियंस के आधार पर आप 1 लाख रुपए तक सैलरी ले सकते हैं।
  • अगर आपको पूरा एक्सपीरियंस है तो आप बड़े बड़े कॉन्ट्रैक्ट ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें –

FAQ Questions?

सिविल इंजीनियर बनने के लिए क्या-क्या करना होता है?

सिविल इंजीनियर 10वीं पास करने के बाद ही कर सकते हैं उसके लिए आपको पॉलिटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा करना होगा और उसमें Entrance Exam देना होगा। इस डिप्लोमा कोर्स करने में 3 साल का समय लगता है जिसे करने के बाद आप जूनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हैं।

सिविल इंजीनियरिंग कितने साल का कोर्स है?

सिविल इंजीनियरिंग 3 साल का कोर्स होता है। जिसे पूरे 3 साल में किया जाता है।

सिविल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती हैं?

सिविल इंजीनियर की सैलरी की बात करें तो अगर आप प्राइवेट सेक्टर में जॉब कर रहे हैं तो आपको 20,000 से लेकर ₹30,000 रुपये प्रति महा मिल सकती है।

सिविल इंजीनियर का काम क्या होता है?

इंजीनियर का काम कंस्ट्रक्शन, तड़के बनाना डिजाइन करना घर की प्लानिंग करना कई सारे ऐसे काम होते हैं जिनमें अच्छा खासा इनकम होता है। लेकिन उसके बारे में संपूर्ण जानकारी ना होने से वह इंजीनियर नही बन पाते हैं।

1 thought on “Civil Engineer Kaise Bane | सिविल इंजीनियर क्या है कैसे बनें”

  1. Pingback: Difference Between Vector And Scalar Quantity | सदिश राशि और अदिश राशि में अंतर 2023

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: