Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Kolras Ka Niyam Kya hai

Kolras Ka Niyam Kya hai | कोलराउश का नियम क्या है ? अनुप्रयोग ,उदाहरण |

Kolras Ka Niyam Kya hai – नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है तो दोस्तों आज जानने वाले कोलराउश का नियम क्या है और उसके अनुप्रयोग भी आज इस आर्टिकल में देखने वाले हैं और आपको ( Kohlrausch Niyam Kya hai) उदाहरण सहित आपको यहां पर कॉलराश के नियम के बारे में जानकारी बताने वाले हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि जो छात्र कक्षा 11 तथा 12वीं में है तो उनके रसायन विज्ञान में अधिकतर यह प्रश्न पूछा जाता है तो इस प्रश्न को पूरा जरूर याद करके रखें

कोलराउश नियम क्या है ?

.

कोलराउश का नियम क्या है ? अनुप्रयोग ,उदाहरण |कॉलराश नियम का प्रतिपादन कॉलराश नामक वैज्ञानिक ने सन 18 76 में किया था। इसे नियम को आयनों का स्वतंत्र अभिगमन का नियम भी कहते हैं इस नियम के अनुसार, Kolras Niyam kise kahte |

” अनंत तनुता पर किसी विद्युत अपघट्य की आणविक चालकता का मान उसके धनायनों और ऋणायनों की अनंत तनुता पर आयनी चालकता के योग के बराबर होता है ”

^m ♾️ = xl+♾️+yl -♾️

जहां ^m♾️ = अनंत तनुता पर विद्युत अपघट्य की आणविक चालकता

λ+♾️ = अनंत तनुता पर धनायन कि आयनी चालकता

λ-♾️ = अनंत तनुता पर डायन ऋणायन की आयनी चालकता

x = विद्युत अपघट्य की प्रति फार्मूला इकाई में धनायनो की संख्या

y= विद्युत अपघट्य की प्रति फार्मूला इकाई में ऋणायनो की संख्या

उदाहरण

  • NaCl ⇌ Na+ + Cl–λm0 (NaCl) = λNa+0 + λCl-0
  • H2SO4 ⇌ 2H+ + SO42-λm0 (H2SO4) = 2 λH+0 + λSO4(2-)0
  • KCl ⇌ K+ + Cl–λm0 (KCl) = λK+0 + λCl-0
  • CaCl2 ⇌ Ca2+ + 2Cl–λm0 (CaCl2) = λCa2+0 + 2λCl2-0

इन्हें भी देखें

कॉलराश के नियम के अनुप्रयोग

  • अनंत तनुता पर दुर्बल विद्युत अपघटन की आणविक चालकता की गणना करने पर
  • दुर्बल विद्युत अपागा क्योंकि भोजन की मात्रा की गणना करने में
  • दुर्बल विद्युत अपघट्य के लिए नियोजन स्थरांक ज्ञात करने में
  • अल्पविलेय लवण की विलेयता ज्ञात करने में
  • जल की आयनिक गुणनफल का निर्धारण करने में।

Kolras Ka Niyam Kya hai | कोलराउश का नियम क्या है ? अनुप्रयोग ,उदाहरण |

कॉलराश का प्रतिपादन किसने किया ?

इस नियम का प्रतिपादन कॉलराश नामक वैज्ञानिक ने सन 1876 में किया

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: